ALL संपादकीय देश विदेश राजनीति अपराध विचार मध्यप्रदेश इंदौर
चोर चोरी से जाए, हेरा-फेरी से नहीं, रक्षक ही बन बैठे भक्षक
June 10, 2020 • JAWABDEHI • देश

मामला : लॉकडाउन के 80 दिन बाद शराब की दुकान में निकला माल कम, ग्रामीणों का आरोप, पुलिस ही ले गई माल

इंदौर। लॉकडाउन के 80 दिनों बाद जब शहर के ग्रामीण क्षेत्रों के आसपास जब शराब की दुकानें खुली तो लोगों की भीड़ जुट गई। शराब की दुकानें सरकार ने खोली। करीब 29 दुकानें खोली गई, जिसमें मांगलिया, निपानिया, लसूड़िया मोरी, तेजाजी नगर, एमआर-11, कनाड़िया बायपास, देवगुराड़िया, पालदा, खंडवा नाका, अहीरखेड़ी और हवा बंगला आदि जगहों पर दुकानें खोली गई। ताज्जुब की बात यह है कि इस आपाधापी में मांगलिया की शराब दुकान जब खोली गई तो यहां माल कम निकला। वहीं ग्रामीणों के अनुसार दुकान में से शराब पुलिस द्वारा निकाली गई है, लेकिन इन पर कौन कार्रवाई करेगा। 

जब रक्षक ही भक्षक बन जाएगा तो फिर अपराधी और अपराध रोकने वालों में क्या अंतर रह जाएगा। ग्रामीणों  के अनुसार हम तो मदद के लिए पुलिस को शिकायत करते हैं लेकिन यहां तो पुलिस ही चोर है। अब इनकी शिकायत कहां की जाए।

खास बात ये है कि जो दुकानें खुली, उनमें माल ही नहीं था। तो इन 80 दिनों में माल गया कहां? इस सवाल का जवाब पुलिस ही दे सकती है। इस लॉकडाउन में इंदौर के एयरपोर्ट रोड पर शराब की दुकान में चोरी हुई थी, जिसकी खबरें प्रकाशित हुई, लेकिन आरोपी आज तक नहीं पकड़ाए। मामला संदिग्ध है और सवाल पुलिस पर भी उठे, लेकिन मामले में पड़ताल जारी है।