ALL संपादकीय देश विदेश राजनीति अपराध ई-पेपर मध्यप्रदेश इंदौर
घर में दुबके डॉक्टर... नाम के हैं भगवान
April 20, 2020 • JAWABDEHI • संपादकीय

 

जगजीत सिंह भाटिया
प्रधान संपादक
जवाबदेही समाचार पत्र


किसी ने मोबाइल बंद किया तो किसी ने घर पर लगा लिया ताला

भगवान के नाम से कहलाने वाले कुछ कथित डॉक्टर इस समय कोरोना जैसी महामारी से निपटने के बजाए घर में दुबक गए हैं। डॉक्टरों ने घरों पर ताला लगा लिया है वहीं, मोबाइल आॅफ करके रख दिए है..., ताकि कोई उनसे संपर्क नहीं कर सके। इस विपत्ती के समय डॉक्टर ही एक ऐसा व्यक्ति होता है जो बीमार व्यक्ति को सांसे दे सकता है, लेकिन ये डॉक्टर अब सिर्फ नाम मात्र के भगवान हो चुके हैं। पूरा दारोमदार सरकारी अस्पतालों पर है। सरकारी अस्पतालों में भी वरिष्ठ अधिकारियों का खौफ है तो सरकारी डॉक्टर इलाज कर रहे हैं, अन्यथा कई ऐसे वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिसमें सरकारी अस्पताल की लापरवाही भी नजर आ रही है। 

निजी अस्पताल तो सिर्फ व्यापारिक प्रतिष्ठान बन गए हैं। अवसरवादी इन अस्पतालों पर प्रशासनिक सख्ती बहुत जरूरी है। 1000 से 2000 रुपए की फीस  लेने वाले डॉक्टर कोरोना के सामने भीगी बिल्ली बन गए और खुद को घरों में कोरेंटाइन कर लिया है। 

पूरे विश्व में कोरोना ने कहर मचा कर रखा है, विदेश से ऐसी कोई खबर नहीं आ रही है, जिसमें कि किसी डॉक्टर ने पीठ दिखाई हो। डॉक्टर के परिवार तबाह हो गए, लेकिन उन्होंने अपना कर्त्तव्य नहीं छोड़ा। हमारे यहां तो डॉक्टर इतने खुदगर्ज हो गए हैं कि उन्हें इस संकट की घड़ी में किसी से कोई मतलब नहीं है। 

इंदौर शहर के जिन निजी अस्पतालों को प्रशासन ने अपने अधिग्रहण कर रखा है, उन्हें छोड़कर सभी अस्पताल के डॉक्टर लापरवाही बरत रहे हैं। प्रशासन को ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ कड़े कदम उठाने चाहिए। 
आज इंदौर सहित पूरे प्रदेश के नागरिकों को मान बढ़ा है, क्योंकि ड्यूटी पर रहते इंदौर के जूनी इंदौर टीआई देवेंद्र कुमार चंद्रवंशी कोरोना से लड़ते हुए शहीद हो गए।  वहीं, कई ऐसे पुलिसर्मी सिर्फ मास्क पहनकर केंटोनमेंट एरिए में तैनात होकर सभी की सुरक्षा में लगे हैं, ताकि हम सुरक्षित रह सके, लेकिन कथित डॉक्टरों को पूरी किट मिल गई है, उसके बावजूद सेवा धर्म छोड़कर घर में बैठ गए हैं। 

जवाबदेही अपील

घर में रहे, सुरक्षित रहे, एक-दूसरे से दूरी बनाकर रहे, बाजारों में सामान खरीदने के लिए भीड़ न लगाएं, प्रशासन के नियमों का पालन करें