ALL संपादकीय देश विदेश राजनीति अपराध विचार मध्यप्रदेश इंदौर
मध्यप्रदेश में सभी शासकीय कार्यालय बंद, 5 दिन का राजकीय शोक, कैबिनेट मीटिंग स्थगित
July 21, 2020 • JAWABDEHI • मध्यप्रदेश

भोपाल। मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टंडन के निधन के कारण प्रदेश में 5 दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। इसी के साथ आज 21 जुलाई 2020 को सभी शासकीय कार्यालय तत्काल बंद कर देने के आदेश दिए गए हैं। सीएम श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि आज होने वाली प्रदेश कैबिनेट की बैठक मध्यप्रदेश के माननीय राज्यपाल दिवंगत श्री लालजी टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद स्थगित कर दी जायेगी। बैठक की कार्यवाही कल संपन्न होगी। मप्र शासन की ओर से जारी आधिकारिक सूचना के अनुसार आज प्रदेश के सभी शासकीय कार्यालय, शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। राजकीय शोक के दौरान प्रदेश में कोई आधिकारिक व मनोरंजक कार्यक्रम आयोजित नहीं किये जायेंगे। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का लखनऊ के मेदांता अस्पताल में सुबह 5.35 बजे निधन हो गया। वे 85 वर्ष के थे। उनका पार्थिव शरीर त्रिलोकनाथ रोड स्थित सरकारी बंगले पर जाएगा। दोपहर 12 बजे पार्थिव शरीर को चौक स्थित आवास सोंधी टोला ले जाया जाएगा। 
 
शाम 4:30 बजे गोमती तट गुलाला घाट पर लालजी टंडन को अंतिम विदाई दी जाएगी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री सीए शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। सीएम शिवराज सिंह चौहान आज लालजी टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित करने लखनऊ जाएंगे।
 
11 जून को बुखार होने पर परिजनों ने उन्हें लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। शुरुआती पड़ताल में डॉक्टरों को पेशाब में संक्रमण का पता चलने पर इलाज शुरू किया। जांच के दौरान राज्यपाल के लिवर में दिक्कत पाए जाने पर सीटी गाइडेड प्रोसीजर किया गया। इस दौरान पेट में रक्त का स्राव बढ़ गया, जिसके चलते उनका इमरजेंसी में ऑपरेशन किया गया था।
 
हाल ही में उनके किडनी के साथ-साथ लिवर का फंक्शन भी गड़बड़ा गया था। उनका इलाज आइसीयू में चल रहा था। 13 जून को उनका ऑपरेशन किया गया था। हालत गंभीर होने पर उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया। बीच में दो दिन बाई-पैप मशीन पर रहे। हालत में सुधार न होता देख दोबारा वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया। अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. राकेश कपूर के मुताबिक लालजी टंडन का किडनी फंक्शन पहले से गड़बड़ा गया था। ऐसे में डायलिसिस करनी पड़ रही थी। वहीं, अब लिवर का फंक्शन भी गड़बड़ हो गया था।